यौन प्रताड़ना से आहत श्रमिक युवक ने की ठेकेदार की हत्या.. गला रेत कर लाश तीन टूकड़ों में फेंकी

रायगढ़,21 अक्टूबर 2019। लगातार यौन प्रताड़ना से आहत युवक ने यौन प्रताड़ना करने वाले लेबर ठेकेदार का गला रेत कर उसके शव को तीन टुकड़ों में आरी से बाँट दिया। तीन टूकड़ो में शव को सायकल को लाद कर युवक ने शहर के अलग अलग हिस्सों में फेंक दिया। पुलिस को शव का हिस्सा बरामद हुआ था। पुलिस ने पतासाजी के दौरान शव की पहचान श्रमिक ठेकेदार संदीप सिंह के रुप में की थी।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

श्रमिक ठेकेदार संदीप सिंह मूलत: बिहार निवासी था, और सामान्य रुप से उसका कोई विवाद नहीं था। वह 18 अक्टूबर की शाम घर से निकला था और रात बारह बजे तक ना लौटने पर उसके परिजनों ने गुम इंसान की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सुबह पुलिस को अधकटा शव मानसरोवर तालाब के पास मिला था, पहचान के बाद परिजनों ने पुष्टि कर दी कि, शव संदीप सिंह का है।

पता तलाश के दौरान पुलिस की जाँच श्रमिक शंकर पासवान पर जा टिकी। मृतक संदीप सिंह की नज़दीकी शंकर पासवान से होने की खबर, और पतरापाली इलाक़े में संभावित घटना के दिन शंकर पासवान की मौजुदगी की पुष्टि के बाद पुलिस ने शंकर पासवान को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो पुलिस के सवालों के आगे शंकर पासवान टूट गया।
शंकर पासवान ने पुलिस को बताया
“ठेकेदार संदीप सिंह काम दिलवाता था, और उसका शारीरिक शोषण करता था,वह घटना की रात फिर आया, तब छूरे से उसका गला रेत कर, उसके शव के तीन टूकड़े आरी से किए और सायकल में लाद कर पूरी रात मानसरोवर के अलग अलग इलाकों में फेंकता रहा। शव का सर चिराईपाली स्थित पानी टंकी में फेंक दिया”

कप्तान संतोष सिंह ने NPG को बताया
“घटना शुरुआत से ही यह संकेत दे रही थी कि, नृशंस तरीक़े से हुई इस हत्या के पीछे कोई सेक्स एंगल हो सकता है, हमने पाँच जाँच दल गठित किया था, और सबको अलग अलग काम सौंपा गया था। मृतक ठेकेदार होम्यो सेक्सुअल था, और आरोपी युवक उससे क्षुब्ध था, हमने मृतक के शव के दिगर हिस्से आरोपी युवक की निशानदेही पर बरामद कर लिए हैं, और हत्या में प्रयुक्त हथियार भी”

इस वारदात ने पूरे शहर को स्तब्ध कर दिया था, और घटना के पीछे का कारण सार्वजनिक होने के बाद इसकी चर्चा लगातार होती रही।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.